जिरेनियम की खेती कर कमायें लाखों रुपये हर साल | Geranium Ki Kheti Kaise Karen

(What is Geranium in hindi)

0
1151
Geranium Ki Kheti Kaise Karen
Geranium Ki Kheti Kaise Karen

Geranium Ki Kheti Kaise Karen, Geranium farming in hindi,geranium ki kheti kaise hoti hai,geranium ki kheti kaise kare,geranium ki kheti in hindi,जिरेनियम की खेती कैसे करें

यदि किसान भाई कम लागत, मेहनत और ज्यादा मुनाफ़ा वाली फसल की तलाश कर रहे हैं तो, जिरेनियम उसका एक विकल्प हो सकता है. ये फसल कम लागत में ज्यादा लाभ देने की काबिलियत रखती है. किसान भाई इसकी खेती कर 4-5 साल तक आराम से मुनाफा कमा सकते हैं. कम पानी में उगने वाली फसल होने के कारण ज्यादा मेहनत करने की ज़रूरत भी नहीं होती. इस लेख के माध्यम से हम आपको जेरेनियम से जुड़ी A-Z जानकारी देंगे. जिसमें इसकी खेती कब करें, लागत और मुनाफा (Geranium ki kheti kaise karen) भी शामिल हैं.

जिरेनियम क्या क्या है (What is Geranium in hindi)

जेरेनियम मूलतः दक्षिण अफ्रीका का पौधा है. इसका वैज्ञानिक नाम पिलारगोनियम ग्रेवियोलेन्स(geranium scientific name in hindi) है. यह एक सुगंधित पौधा है. जिसे लोग गरीबों के गुलाब के नाम से भी जानते हैं. जेरेनियम के तेल की मार्केट में अत्यधिक मांग है. मशीन की मदद से इसके फूलों से तेल निकाला जाता है जो औषधी के साथ अन्य और काम में भी आता है. जिरेनियम तेल से गुलाब सी मिलती जुलती खुशबू आती है. इसका उपयोग एरोमाथेरेपी, ब्यूटी प्रोडक्ट, इत्र और सुगंधित साबुन बनाने में किया जाता है.

ये भी पढ़ें-जानें जिनेरियम की देखभाल करने का जबरदस्त तरीका

Geranium oil meaning in hindi

एक हल्के पीले या हरे रंग का तेल जिसमें गुलाब की तरह सुगंध होती है, जो कि जीनस पेलार्गोनियम के विभिन्न पौधों से प्राप्त होता है, और इसका मुख्य रूप से एरोमाथेरेपी, ब्यूटी प्रोडक्ट, इत्र और सुगंधित साबुन बनाने में किया जाता है.

कैसी मिट्टी में जिरेनियम की खेती की जाती है(In what soil is geranium cultivated in hindi)

इसकी बुआई के लिए माकूल है, दोमट और बलुई दोमट मिट्टी बढ़िया मानी जाती है. इस मिट्टी में ऐसे जीवाणु कम होते हैं जो इस नुकसान पहुंचाते हैं.

जिरेनियम तेल का रेट(geranium oil price in Hindi)

भारतीय बाज़ार में जिरेनियम की कीमत 10 से 25 हज़ार रूपये प्रति किलो तक है. विदेशी बाज़ार में किसी इसकी कीमत और भी ज्यादा है. विशेषज्ञों का कहना है कि पिछले कई सालों से इसकी कीमत 10 हज़ार रूपये प्रति किलों से नीचे नहीं गयी है. ऐसे में यह किसानों के लिए कम लागत में ज्यादा मुनाफ़ा देने वाली फसल साबित हो सकती है.

जिरेनियम की खेती कैसे करें (Geranium Ki Kheti Kaise Karen)

Geranium Ki Kheti Kaise Karen
Geranium Ki Kheti Kaise Karen
  • नवम्बर महीने में जेरिनियम की बुवाई की जाती है और इन्हें सुरक्षात्मक शेड में रखा जाता है.
  • जेरिनियम के मातृ पौधों को बारिश से बचाने के लिए सुरक्षात्मक शेड बनाया जाता है.
  • इसके लिए बुवाई वाले क्षेत्र को बाकि से ऊंचा रखा जाता है.
  • एक एकड़ में जिरेनियम की खेती करने के लिए कुल 20-22 हज़ार पौधों की ज़रूरत होती है.
  • जिसके लिए हमें 3-4 हज़ार पौध को पॉलीहाउस की सुरक्षात्मक शेड तकनीकी से बारिश से बचाना होता है.
  • इसके लिए 30-40 वर्ग मीटर के आसपास का सेमी प्रोटेक्टिव सेड बनाया जाता है.
  • जो ऊपर से पूरी तरह से पॉलिथीन से ढका हुआ हो होता है.
  • इसके बाद 15 मार्च के आसपास पौध से पौध तैयार की जाती है.
  • एक पौध से 10 से 12 पौध तैयार किये जा सकते हैं.
  • बरसात खत्म होने के बाद इन्हें खेत में लगा दें.
  • फिर एक बार कटिंग लें और फिर कटिंग से कटिंग लें.
  • इस तरह फ़रवरी तक 6-7 बार कटिंग लें और ऐसे एक एकड़ के लिए पौधें तैयार हो जायेंगे.
  • ऐसे हम काफी कम पौधों की मदद से भी 20-22 हज़ार पौधें तैयार कर लेंगे.
  • इसके पौधों को 50 से 50 की दूरी पर लगायें और बराबर खाद दें.

बीज कहां से लें

सीमैप अरोमा मिशन के तहत जेरेनियम की खेती को बढ़ावा देने के लिए मदर प्लांट उपलब्ध करा रहा है. इस पहल का उद्देश्य जेरेनियम की खेती को व्‍यावसायिक रूप से बढ़ावा देना है ताकि किसानों की आय में बढ़ोतरी हो सके. ऑफिसियल वेबसाइट https://www.cimap.res.in/hindi/. यदि आपको जिरेनियम बीज लेने में किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना करना पड़ रहा है, तो आप हमसे इस नंबर पर सम्पर्क करें 9205632859. हम आपको बीज दिलाने में मदद करेंगे.

जेनेरियम को हिंदी में क्या कहते हैं ?

इसका वैज्ञानिक नाम पिलारगोनियम ग्रेवियोलेन्स है और इससे हिंदी में गरीबों का गुलाब कहते हैं.

जिनेरियम की खेती की लागत ?

एक एकड़ में इसकी लगात करीब 80 हज़ार के करीब आती है.

जिनेरियम की खेती से मुनाफ़ा ?

किसान भाई इसकी खेती से 2 लाख रूपये प्रति एकड़ कमा सकते हैं. वो भी चार महीने के भीतर.

जिनेरियम की फसल कितने महीने में तैयार होती है ?

इसे तैयार होने में 120 या चार महीने का वक़्त लगता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here