जानें जिनेरियम की देखभाल करने का जबरदस्त तरीका|Geranium Ki Dekhbhal Kaise Karen

0
343
Geranium Ki Dekhbhal Kaise Karen
Geranium Ki Dekhbhal Kaise Karen

Geranium Ki Dekhbhal Kaise Karen, जिनेरियम की देखभाल करने का आसान तरीका

जिनेरियम की खेती कम पैसे में ज्यादा मुनाफा देने वाली फसल है. इस फसल की लागत भी अन्य फसलों की तुलना में काफी कम होती है. इसकी देखभाल की न के बराबर चिंता करने की ज़रूरत होती है. इस लेख में हम आपको जिनेरियम की देखभाल करने के ज़बरदस्त तरीकों(Geranium Ki Dekhbhal Kaise Karen) के बारे में बतायेंगे. यदि आप इसकी खेती करने का प्लान करने रहे हैं तो ये लेख आपके लिए रामबाण साबित होगा.

सुरक्षात्मक शेड तकनीकी(Geranium ki dekhbhal kaise karen)

Geranium Ki Dekhbhal Kaise Karen
Geranium Ki Dekhbhal Kaise Karen

इसे जिरेनियम के मातृ पौधों को बचाने के लिए तैयार किया जाता है. शेड को किसान के पास मौजूद बांस बल्ली की मदद से 200 माइक्रोन की पारदर्दी (सफेद) पॉलीथीन से तैयार किया जाता है. जिसमें के ऊपर का एक मीटर हिस्सा खुला रखा जाता है ताकि ऊपर बारिश के पानी से तो बचत हो लेकिन पौधे के लिए हवा का आवागमन बना रहे. प्राकृतिक माहौल में पौधे तेजी से विकसित होते हैं. इसे खेत के उस हिस्से में बनाया जाता है जो ऊंचा हो. या फिर उस जगह को एक फीट मिट्टी डालकर ऊंचा कर देते हैं.

जिरेनियम की खेती कब की जाती है

वैसे तो जिरेनियम की खेती के लिए नवम्बर का महीना सबसे अच्छा माना जाता है. भारत के कई हिस्सों में इसी महीने इसकी खेती की जाती है, लेकिन किसान भाई नवम्बर से फ़रवरी तक इसकी खेती कर सकते हैं. किसान नवम्बर से फ़रवरी के बीच में कभी जिरेनियम की फसल को लगा सकते हैं. यदि किसान भाई ज़्यादा से ज़्यादा लाभ लेना चाहते हैं तो फ़रवरी से ही इसकी खेती शुरू करें. जैसा कि किसान भाई मेंथा की खेती के लिए करते हैं.

ये भी पढ़ें-जिरेनियम की खेती कर कमायें लाखों रुपये हर साल

जिरेनियम को बारिश से बचाने का तरीका(Geranium Ki Dekhbhal Kaise Karen)

  • इसे बारिश से बचाने के कई तरीके हैं. जिसमें से एक सेमी प्रोटेक्टिव सेड भी एक है.
  • किसान भाई सुरक्षात्मक शेड तकनीकी से पौधों की नर्सरी को बचा सकते हैं.
  • जेनेरियम की पौध लगाने से पहले जमीन को बाकी की तुलना में ऊंचा कर लें.
  • फिर ऊपर उठी हुई जमीन पर पौध लगाये. जिससे बारिश होने पर पानी पौध की जड़ों में ना जाये.
  • इसके साथ ही किसान दोमट और बलुई दोमट मिट्टी में इसे बायोए, इसमें बीमारीयों और खरपतवार से बचाने में मदद मिलती है.

जिरेनियम की खेती की लागत (geranium plant cost)

यदि किसान भाई सेड विधि से खेती करें तो, इसकी लागत 2 रूपये प्रति पौधा आती है. सेड बनाने के लिए किसान भाइयों को सिर्फ 8-10 हज़ार रूपये खर्च करने होंगे. किसान केवल 4-5 हज़ार पौध से ही एक एकड़ जमीन के लिए 20-22 हज़ार पौधे तैयार कर सकते हैं. मात्र चार माह की फसल में लगभग 80 हजार रुपये की लागत आती है.  किसान भाई https://www.cimap.res.in/hindi/ से पौध लेने के लिए सम्पर्क कर सकते हैं.

जिरेनियम की खेती से मुनाफा (geranium farming profit)

इसकी बाज़ार में औसतन कीमत 20 हज़ार रूपये है. यदि किसान भाई इसकी खेती एक एकड़ में करते हैं तो, उन्हें 8-10 लीटर तेल प्राप्त होगा. इस तरह उन्हें केवल चार महीने में करीब 2 लाख रूपये का मुनाफा होगा. यह लम्बी चलने वाली फसल है किसान भाई 4 से 5 साल तक इसके मुनाफा कमा सकते हैं. उन्हें हर बार बारिश से चार हज़ार पौध को बचाना होगा और फिर उसी की कटिंग को लगाना होगा. इससे किसानों का मुनाफा और बढ़ जायेगा.

जिरेनियम की खेती कैसे करें

जिरेनियम तेल के दाम(Geranium oil price )

इसके तेल की मांग भारत सहित विदेशों तक में है. भारतीय बाज़ार में इसके तेल के दाम 10 से 25 हज़ार प्रति लीटर तक हैं. विशेषज्ञों के अनुसार इसकी कीमत पिछले कई सालों से 10 हज़ार लीटर से कम नहीं हुई है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here