जानें धान में डीएपी खाद की जगह कौन सी खाद डालें, जिससे कम लागत में ज्यादा मुनाफा होगा | Dhaan me DAP ki jagah kaun si khad daalen

0
2935
Dhaan Me DAP Ki Jagah Kaun Si Khad Daalen
Dhaan Me DAP Ki Jagah Kaun Si Khad Daalen

दोस्तों, इस समय धान की रोपाई रफ़्तार पकड़ चुकी है. देश के कई हिस्सों में पौध रोपाई के लिए तैयार हो चुकी है, तो कहीं रोपाई भी शुरू हो चुकी है. इस वक़्त किसान भाईयों को बेहतर पैदावार के लिए कई बातों का ध्यान देना ज़रूरी है, जिसमें खाद और कीटनाशकों का प्रयोग प्रमुख रूप से शामिल है. गलत खाद का प्रयोग न केवल धान की पौध को ख़राब करेगा बल्कि समय और पैसे की भी बर्बादी भी करेगा.वैसे धान की रोपाई के समय डीएपी खाद का प्रयोग करना सबसे बेस्ट माना जाता है, लेकिन कई किसान भाई इससे भी बेहतर विकल्प की तलाश में होते हैं. इस लेख में हम आपको Dhaan Me DAP khad Ki Jagah Kaun Si Khad Daalne के बारे में बताने जा रहे हैं.

धान में डीएपी खाद की जगह कौन सी खाद डालें का उद्देश्य| Dhaan me DAP khad ki jagah kaun si khad daalen Ka mahtwa

अक्सर महंगी खाद के चलते लागत में इजाफ़ा हो जाता है और किसानों का मुनाफा कम. इसलिए हम आपको महंगे डीएपी खाद का एक विकल्प दे रहे हैं जिससे कम लागत में ज़्यादा मुनाफा होगा. डीएपी खाद के विकल्प की तलाश करने के पीछे का उद्देश्य लागत कम और मुनाफे को डबल करना है.

रोपाई के वक़्त धान में डीएपी खाद की जगह कौन सी खाद डालें| Dhaan Me DAP Khad Ki Jagah Kaun si Khaad Daalen

इस वक़्त तक सभी किसान भाइयों की धान की पौध तैयार हो चुकी होगी. अब किसान भाई धान रोपाई की तैयारी कर रहे हैं. इस दौरान किसान भाईयों को धान की पौध का काफ़ी ख्याल रखना होता है. सिंगल सुपर फॉस्फेट के साथ में यूरिया का इस्तेमाल किया जा सकता है, लेकिन यूरिया की मात्रा बढ़ा कर डालना होगा. किसी भी फसल में यदि सिंगल सिंगल सुपर फॉस्फेट डाली जाती है तो हमेशा यूरिया की ज्यादा मात्रा का इस्तेमाल किया जाता है.

सिंगल सुपर फॉस्फेट में यूरिया ज्यादा मात्रा में मिलाना क्यों जरुरी ?

सिंगल सुपर फॉस्फेट में नाइट्रोजन की मात्रा लगभग जीरो के करीब होती है. नाइट्रोजन पौधे को वृद्धि करने में मदद करती है. नाइट्रोजन की कमी को पूरा करने के लिए इसमें यूरिया को मिलाना अति आवश्यक होता है. वहीं डीएपी में नाइट्रोजन भरपूर मात्रा में होती है और अलग से नाइट्रोजन मिलाने की आवश्यकता नहीं पड़ती. इसलिए किसान भाई जब भी डीएपी खाद विकल्प खोजें या किसी कारणवश डीएपी दुकान में उपलब्ध न हो तो सिंगल सुपर फॉस्फेट में यूरिया मिलाकर इस्तेमाल कर सकते थे.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here