PM Kisan के तहत किसानों के खाते में 18 हज़ार रूपये भेजे गए

1
213

प्रधानमंत्री नरेंद मोदी( PM Narendra Modi) ने शुक्रवार को पीएम किसान(PM Kisan) योजना की अगली क़िस्त किसानों के खाते में हस्तांतरित की. पीएम किसान सम्मान निधि( PM Kisan Samman Nidhi) के तहत किसानों के खाते में 18 हज़ार करोड़ रूपये हस्तांतरित किए गए. इससे देश के 9 करोड़ से ज़्यादा किसान लाभावान्वित होंगे. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वर्चुअल तौर पर बटन दबाकर कर पीएम किसान की क़िस्त हस्तांतरित की.

किसान आन्दोलन के बीच पीएम किसान (PM Kisan)की अगली क़िस्त

प्रधानमंत्री नरेंद मोदी ने किसान आन्दोलन के बीच पीएम किसान( PM Kisan) की अगली किस्त किसानों के खाते में भेजी. इस दौरान प्रधानमंत्री ने देश के अलग-अलग कोने से आए किसानों से वर्चुअल संवाद भी किया. पीएम ने देश के 6 राज्यों के क़रीब 9 करोड़ किसानों से वर्चुअल संवाद भी किया. शुक्रवार को किसान आन्दोलन( Kisan Andolan) का 30वां दिन है और इस दौरान केंद्र सरकार द्वारा पीएम किसान की अगली किस्त किसानों के खाते में हस्तांतरित करने को एक मास्टर स्टॉक माना जा रहा है.

पीएम किसान( PM Kisan) का लाभ न देने पर ममता पर हमला

पूरे देश में पश्चिम बंगाल ही एक ऐसा राज्य है जहाँ के किसानों को पीएम किसान सम्मान निधि( PM Kisan Samman Nidhi) का लाभ नहीं मिलता है. पीएम मोदी ने इस योजना का लाभ बंगाल के किसानों को न देने के लिए ममता बनर्जी को फटकार लगाई. पीएम ने ममता पर हमला करते हुए कहा ‘यदि वो किसानों की इतनी हितेषी होती तो, पीएम किसान योजना से 70 लाख किसानों को वंचित नहीं करती’. वह देश के भोले किसानों भ्रमित कर रही हैं. प्रधानमंत्री ने कहा राजनीति के चलते राज्य के 70 लाख किसानों को इसका लाभ नहीं दिया जा रहा है. उन्होंने ममता पर अपने राज्यों के किसानों की चिंता न करने का आरोप भी लगाया और दूसरे राज्यों के किसानों को भड़काने का आरोप भी.

प्रधानमंत्री ने नये कृषि कानूनों पर किया संवाद

प्रधानमंत्री ने नए कृषि काननों पर देश के किसानों को संबोधित किया. उन्होंने किसानों को नये कृषि कानूनों के लाभ बताये. उन्होंने कहा देश के राजनीतिक दल किसानों के कन्धों पर बन्दूक रखकर अपना हित साधने की कोशिश कर रहे हैं. उन्होंने आगे कहा कि इन तीनों कानूनों से किसानों अपनी आय दुगुना करने में मदद मिलेगी. उन्होंने पिछली सरकारों पर किसानों का शोषण करने का आरोप भी लगाया. उन्होंने कहा यदि पिछली सरकारों को देश के किसानों की इतनी फ़िक्र होती तो वो उनके लिए कुछ न कुछ करते लेकिन वो किसानों को केवल चुनाव के वक्त ही याद करते थे. उन्होंने कहा मोदी सरकार एमएसपी पर फसल की खरीदने में सबसे आगे है. सत्ता में आने के बाद से केंद्र सरकार ने डेढ़ गुना से ज़्यादा एमएसपी पर फसल खरीदी है. पहले की सरकार ने एमएसपी में केवल कुछ ही फसलों को शामिल किया था लेकिन केंद्र की भाजपा सरकार ने एमएसपी बहुत सी फसलों को शामिल किया है

 

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here